दिल की अमीरी ।। Best Motivational Story

दिल की अमीरी

एक बार श्री कृष्ण और अर्जुन दोनों राज्य के भ्रमण पर निकले होते हैं तो उन्हें रास्ते में एक निर्धन व्यक्ति दिखता है अर्जुन उस निर्धन व्यक्ति को देखकर बहुत सदमे में आ जाता है और सोचता है कि यह इतना गरीब है तो यह दो वक्त की रोटी का इंतजाम भी कैसे करता होगा? अर्जुन उसको अपने करीब बुलाता है और कहता है कि मेरे प्रिय खजाने में से जो भी तुमको लेकर जाना है तुम ले जाओ, लेकिन अब से कभी भिक्षा मत मांगना। वह गरीब इंसान बहुत खुश हो जाता है । और पोटली में सोना-चांदी भर लेता है और अपने घर की तरफ जा रहा होता है यह सोचते हुए कि वह सोने का क्या कुछ करेगा लेकिन रास्ते में उसकी पोटली चोर चुरा लेते हैं फिर से वह इंसान अपनी उसी स्थिति में आ जाता है और गरीब हो जाता है।

वह व्यक्ति फिर से अर्जुन के महल में जाता हैं और कहता है। हे महाराज! रास्ते में मेरा सारा धन चोरी हो गया। अर्जुन सारी कहानी सुनता है और कहता है कि अब तुम यह मणि ले जाओ इससे तुम जो भी मांगोगे,वह तुमको मिल जाएगा । अब वह इंसान मणि को देखकर बहुत खुश हो जाता है और मणि को अपने घर लेकर जाता रहता है तो रास्ते में सोचता है कि इससे मैं महल बनवा लूंगा ,इससे में सोना-चांदी  मांगूंगा , एक बड़ी जमीन का हिस्सा मांग लूंगा और अलग-अलग नए-नए व्यंजन मांगूंगा। वह घर में जाता है तो उसकी बीवी पानी लेने गई हुई होती है तो वह सोचता है कि बीवी के आ जाने के बाद उसके साथ सलाह- मशवरा करके फिर मांग लूंगा। लेकिन मणि छुपाने के लिए उसके घर में कोई जगह नहीं होती तो वह एक पुराने घड़े में मणि को छुपा देता हैं और फिर वह बाहर चला जाता है। और उसी दिन उसकी पत्नी का पानी भरते हुए मटका फूट जाता है। वह सोचती है कि कोई बात नहीं घर में पुराना मटका पड़ा है उससे पानी ले आती हो। वह पुराना मटका लेकर आती है पानी भरने के लिए जैसे ही पानी भरने के लिए मटके को पानी में डालती है मणि मटके से निकल कर नदी में चली जाती है। वह व्यक्ति थोड़ी देर में घर आता है और अपनी पत्नी से पूछता है कि इसमें मणि थी वह कहां गई। वह कहती कि मैं तो पानी भरने गई थी मुझे नहीं पता कुछ भी इस बारे में ।अब उस इंसान की किस्मत फिर से ऐसी हो जाती है।
वह फिर से अर्जुन के महल में जाता है और फिर से अपनी पूरी कहानी बताता है।अर्जुन और श्री कृष्ण दोनों यह सुनते रहते हैं। इस बार श्री कृष्णा कहते हैं यह लो ₹2 पर अपने पास रख लो । वह गरीब इंसान सोचता है कि इस बार सिर्फ दो ही रुपए मिले। मुझे हर बार इतना खजाना और मणि मिली थी और व्हा थोड़ा सा दुखी होकर महल से निकल जाता है और अपने घर की तरफ जाता है।

दिल की अमीरी ।। Best Motivational Story 2020

"दान देना कर्तव्य है" ऐसी भावना से जो दान देश, काल, और योग्य पात्र देखकर, प्रत्युपकार की भावना रखे बिगैर दिया जाता है वह सात्त्विक दान कहा गया है ।
“दान देना कर्तव्य है” ऐसी भावना से जो दान देश, काल, और योग्य पात्र देखकर, प्रत्युपकार की भावना रखे बिगैर दिया जाता है वह सात्त्विक दान कहा गया है ।

तभी वह देखता है नदी किनारे एक मछुआरा मछली पकड़ कर अपने साथ ले जा रहा होता है मछली तड़प रही होती है उसको तड़पता देख कर वह मछुआरे को कहता है यह लो ₹2 और यह मछली तुम मुझे दे दो। वह मछली लेकर उसे नदी में छोड़ने के लिए जा रहा होता है तभी मछली वह मणि उगल देती है उस मणि को देखकर वह जोर से चिल्लाता है मिल गई !मिल गई !मिल गई! तभी बराबर में से वह चोर जा रहे होते हैं जिसने उसका सोना लूटा था उन्हें लगता है कि शायद गरीब व्यक्ति ने उनको पहचान लिया। वह सोना – चांदी सब कुछ वही छोड़ कर चले जाते हैं। अब उस व्यक्ति के पास मणि भी आ गई सोना चांदी भी आ गया।

दिल की अमीरी ।। Best Motivational Story 2020

अब वह वापस महल जाता है और अर्जुन को कहता है कि मेरे पास फिर से यह सब कुछ आ गया। अर्जुन श्रीकृष्ण से सवाल पूछते हो कि कि मैंने इतना धन दिया तब भी इसकी किस्मत नहीं बदली, लेकिन आपने ₹2 दिए इसकी किस्मत एकदम पलट गई, ऐसा कैसे हुआ ? तब श्री कृष्ण ने कहा जब तुमने इसे धन दिया तब यह सिर्फ अपने बारे में सोच रहा था कि क्या खरीदें या कैसा महल होगा ,लेकिन जब मैंने उसे ₹2 दिए तो इसको दूसरों की चिंता भी थी उसने उस मछली की चिंता करी और उसका भाग्य उदय हो गया। ऐसे कभी भाग्य पैसों से उदय नहीं होता है । अगर आपके पास जो भी है अगर आप किसी की मदद करने के लायक हैं तो आप जरूर कीजिए फिर देखना कैसे आपका भाग्य कितना उदय होता है । यह मैं नहीं कहती यह कहती है यह पवित्र श्री मद भगवत गीता

Moral of this story:

दोस्तों इस कहानी से हमें ही सीखने को मिलता है आपको किसी के लिए कुछ करना चाहते हैं तो उसके लिए पैसों की जरूरत नहीं होती आपके पास जितना भी है जैसा भी है आप उसी से किसी दूसरे की मदद करने का सोच भी लेंगे, तो यही आपकी जीवन के लिए बहुत बड़ी बात है कि इसी से आपकी किस्मत पलट सकती है तो आपके पास अगर ₹1 भी है तब भी आप किसी की मदद करने का सोच लेते हैं वही बहुत होता है या उसके लिए कुछ कर लेते हैं तो आपका भाग्य एकदम उदय हो जाता है तो हमेशा खुद से पहले दूसरों का सोचे।

 

दोस्तो , उम्मीद करती हूं कि आपको यह कहानी  “दिल की अमीरी ।। Best Motivational Story 2020”पसंद आई होगी। मेरी इस कहानी से आपने काफ़ी कुछ सीखा होगा कृपा Comment करके जरूर बताएं।  नीचे दिए गए EMOJI पर क्लिक करके आप इस पोस्ट को लाइक कर सकते हैं। Bell icon 🔔 आइकन पर क्लिक करे और नए पोस्ट को सबसे पहले पाए। ऐसी ही Motivational story के लिए कृपया इस पोस्ट को शेयर करे और हम से जुड़े रहे ।

Hindi Kahani : इन कहानियों को भी ज़रूर पढ़ें:

हालातो से कैसे जीते ।

साहस के साथ जीवन में कदमों को आगे बढ़ाएं ।

एक संघर्ष जीवन का ।

अपने लक्ष्य को कैसे प्राप्त करें ।

यदि आप इस ब्लॉग पर हिंदी में अपना कोई आर्टिकल या जो भी जानकारी Share करना चाहते हैं  (Guest Post) तो कृपया अपनी पोस्ट    E-mail करें. Id है – ‘[email protected]’ पसंद आने पर आपकी पोस्ट zindagiup.Com प्रकाशित की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!