तोल मोल कर बोलो ।। Hindi story 2023

तोल मोल कर बोलो

Hindi story 2023- बोले हुए शब्द कभी वापस नहीं आते। इसकी गहराई को हम “तोल मोल कर बोलो ।। Hindi story 2023 “कहानी के माध्यम से जानेंगे। जब भी बोलो तो नाप तोल कर बोलो जब भी बोलो तो सोचकर बोलो क्योंकि बोले हुए शब्द कभी वापस नहीं आते और क्या पता आप कुछ ऐसा बोल जाओ जिसके कारण सामने वाला जिंदगी से हार मान ले।

मेंढकों का एक समूह था जो कि अक्सर जंगल में घूमा करता था एक दिन मेंढकों का समूह जंगल से गुजर रहा था, अचानक से उनमें से दो मेंढक एक गड्ढे में गिर जाते हैं। जब दूसरे मेंढकों ने गड्ढे के चारों ओर भीड़ लगाई और देखा कि यह कितना गहरा है, तो उन्होंने दोनों मेंढकों को कहा कि उनके बचने की कोई उम्मीद नहीं है।दोनों मेंढकों ने बाकी मेंढकों को अनदेखा करने का फैसला किया कि अन्य क्या कह रहे थे और उन्होंने गड्ढे से बाहर निकलने की कोशिश की।

उनके काफी प्रयासों के बाद, गड्ढे के ऊपर की तरफ मेंढकों का समूह यही कह रहा था कि उन्हें कोशिश छोड़ देनी चाहिए कि वे इससे कभी बाहर आ पाएंगे।

बोले हुए शब्द एक वाण के तीर जैसे होते है जब वो निकल जाते है तो वापस कभी लौट कर नहीं आते।
बोले हुए शब्द एक तीर के जैसे होते है जब वो निकल जाते है तो वापस कभी लौट कर नहीं आते।

आखिरकार, दो मेंढक में से एक ने उन बाकी मेंढकों की बात पर ध्यान दिया और उसे लगा कि बाकी सब सही कह रहे है और उसने कोशिश करना छोड़ दिया। दूसरा मेंढक कूदना जारी रखा जितना वह कोशिश कर सकता था। जब भी मेंढक कूदता तो बाकी मेंढक की भीड़ चिल्लाती और कहती-” बस मर गया”।

तोल मोल कर बोलो ।। Hindi story 2023

वह और ज़ोर से कूदा और आखिकार कर दिखाया और बाहर आ गया। जब वह बाहर निकला तो उस मेंढक ने बाकी मेंढकों को धन्यवाद बोला। तो दूसरे मेंढकों के सर नीचे झुक गए और उनमें से एक ने कहा, “क्या तुमने हमें नहीं सुना?”

मेंढक ने उन्हें कहा कि में तो बहरा हूं और आप सब कुछ बोल रहे थे तो मुझे लगा कि आप सब मुझे प्रोत्साहित कर रहे थे और इस वजह से मैं बाहर आ पाया।।

Moral of this story:

आपके मुंह से निकलने से पहले आप क्या कहते हैं, इसके बारे में सोचें।आपके बोले हुए शब्दो से किसी व्यक्ति पर कितना असर हो सकता है यह हम अंदाजा भी नहीं लगा सकते है। इसीलिए अपने शब्दों को तोल कर बोलिए और अच्छा बोलिए। बोलने से पहले इतना जरूर ध्यान रखिए कि आपके बोले हुए शब्द किसी की तकलीफ का कारण कभी ना बने। अगर आप किसी के लिए अच्छा नहीं बोल सकते हैं तो कम बोलिए, पर बुरा कभी ना बोलिए।

Think about what you say before it leaves your mouth. We can’t even imagine the impact your spoken words can have on someone. That’s why weigh your words and speak well. Before speaking, keep this much in mind that your spoken words should never become the reason for anyone’s trouble. If you cannot speak good for someone, then speak less, but never speak bad.

दोस्तो , उम्मीद करती हूं कि आपको यह कहानी  “तोल मोल कर बोलो ।। Hindi story 2023”पसंद आई होगी। मेरी इस कहानी से आपने काफ़ी कुछ सीखा होगा कृपा Comment करके जरूर बताएं।  नीचे दिए गए EMOJI पर क्लिक करके आप इस पोस्ट को लाइक कर सकते हैं। Bell icon 🔔 आइकन पर क्लिक करे और नए पोस्ट को सबसे पहले पाए। ऐसी ही Motivational story के लिए कृपया इस पोस्ट को शेयर करे और हम से जुड़े रहे ।

Hindi Kahani : इन कहानियों को भी ज़रूर पढ़ें:

हालातो से कैसे जीते ।

साहस के साथ जीवन में कदमों को आगे बढ़ाएं ।

एक संघर्ष जीवन का ।

अपने लक्ष्य को कैसे प्राप्त करें ।

यदि आप इस ब्लॉग पर हिंदी में अपना कोई आर्टिकल या जो भी जानकारी Share करना चाहते हैं  (Guest Post) तो कृपया अपनी पोस्ट    E-mail करें. Id है – ‘[email protected]’ पसंद आने पर आपकी पोस्ट zindagiup.Com प्रकाशित की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!