साहस के साथ जीवन में कदमों को आगे बढ़ाएं ।। Motivational Hindi Story

Moral Story in Hindi: 

दोस्तों, हमारे जीवन में कई बार हमें struggles या संघर्षों का सामना करना पड़ता है। कई बार ऐसे situations आते हैं जिनका हमारे जीवन पर गहरा प्रभाव पड़ता है। पेश है जीवन के साहस/courage पर ऐसी ही एक कहानी-

एक दिन एक किसान का बैल कुएँ में गिर गया।
वह बैल घंटों ज़ोर -ज़ोर से रोता रहा और किसान यह सुन – सुन के परेशान होता रहा और विचार करता रहा कि अब वो क्या करे कैसे अपने बैल को बचाए कैसे उसको बाहर निकाले ।
लेकिन फिर उसको खयाल आया कि  बैल तो काफी बूढा  हो चूकाहैं अतः इसे बचाने से कोई अतिरिक्त लाभ होने वाला नहीं था और इसलिए उसने फिर यह निर्णय लिया कि इसे कुएं में ही दफन कर देते है।
किसान ने अपने सभी पड़ोसियों को बुलाया और मदद करने को कहा, किसान के कहने पर सभी राज़ी हो गए और सभी ने एक-एक फावड़ा पकड़ा और कुएँ में मिट्टी डालनी शुरू कर दी।

MORE STORIES:

साहस के साथ जीवन में कदमों को आगे बढ़ाएं ।। Motivational Hindi Story
पहले तो बैल को समझ ही नहीं आया की ये क्या हो रहा है परन्तु जैसे ही बैल कि समझ में आया कि यह क्या हो रहा है वह और ज़ोर-ज़ोर से चीख़ चीख़ कर रोने लगा और फिर ,अचानक वह आश्चर्यजनक रुप से शांत हो गया।
सब लोग चुपचाप कुएँ में मिट्टी डालते रहे तभी बैल की आवाज़ अचानक बंद होने से किसान थोड़ा विचार करने लगा और किसान ने कुएँ में झाँका तो वह आश्चर्य से सन्न रह गया..

कामयाबी के रास्ते में हाथ पकड़ने वाले कम और पैर खींचने वाले ज्यादा मिलते हैं
कामयाबी के रास्ते में हाथ पकड़ने वाले कम और पैर खींचने वाले ज्यादा मिलते हैं ।

उसने देखा कि बैल अपनी पीठ पर पड़ने वाले हर फावड़े की मिट्टी के साथ वह बैल एक आश्चर्यजनक हरकत कर रहा था वह हिल-हिल कर उस मिट्टी को नीचे गिरा देता था। मिट्टी कुएं में नीचे गिरती रही और स्तर ऊपर उठता रहा और बैल उस सीढ़ी की तरह इस्तेमाल करता और फिर एक कदम बढ़ाकर उस पर चढ़ जाता था।
जैसे-जैसे किसान तथा उसके पड़ोसी उस पर फावड़ों से मिट्टी गिराते वैसे -वैसे वह हिल-हिल कर उस मिट्टी को गिरा देता और एक सीढी ऊपर चढ़ आता और जल्दी ही सबको चकित करते हुए बैल कुएँ के किनारे पर पहुंच जाता है और फिर कूदकर बाहर भाग गया ।

Moral of this story:

ध्यान रखे आपके जीवन में भी बहुत तरह से मिट्टी फेंकी जायेगी बहुत तरह की गंदगी आप पर गिरेगी जैसे कि , आपको आगे बढ़ने से रोकने के लिए कोई बेकार में ही आपकी आलोचना करेगा ।
कोई आपकी सफलता से ईर्ष्या के कारण आपको बेकार में ही भला बुरा कहेगा
कोई आपसे आगे निकलने के लिए ऐसे रास्ते अपनाता हुआ दिखेगा जो आपके आदर्शों के विरुद्ध होंगे…
ऐसे में आपको हतोत्साहित हो कर कुएँ में ही नहीं पड़े रहना है बल्कि साहस/courage के साथ हर तरह की गंदगी को गिरा देना है और उससे सीख ले कर उसे सीढ़ी बनाकर बिना अपने आदर्शों का त्याग किये अपने कदमों को आगे बढ़ाते जाना है।

दोस्तो , उम्मीद करती हूं कि आपको यह कहानी पसंद आई होगी। मेरी इस कहानी से आपने काफ़ी कुछ सीखा होगा कृपा Comment करके जरूर बताएं।  नीचे दिए गए EMOJI पर क्लिक करके आप इस पोस्ट को लाइक कर सकते हैं। Bell icon 🔔 आइकन पर क्लिक करे और नए पोस्ट को सबसे पहले पाए। ऐसी ही Motivational story के लिए कृपया इस पोस्ट को शेयर करे और हम से जुड़े रहे ।

Thank You

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!