एक कदम सफलता की ओर- Best Motivational Story

Best Motivational Story:-

दोस्तों ,आज मैं एक Motivational story लेकर आई हूं जो कि आपको जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करें और आपको जिंदगी में कभी भी किसी भी वजह से आपको रुकना नहीं हैं और कोशिश करते रहना है। खुद के लिए बनाई गई लक्ष्य को प्राप्त करने में आपका सहयोग देगी जिससे आप ही बेहतर इंसान बन सकते हैं। यह कहानी आपको सफलता के मार्ग में एक कदम का महत्व बताएगी। आज की कहानी एक गांव के व्यक्ति के बारे में:-

एक गांव के पास एक बहुत सुंदर पहाड़ था। उस सुंदर पहाड़ पर एक मंदिर था। वह गांव से बस दस मील की ही दूरी पर था और गांव से ही मंदिर दिखाई पड़ता था। दूर-दूर के लोग उस मंदिर के दर्शन करने आते और उस पहाड़ को देखने जाते।
उस गांव में एक युवक था, वह भी सोचता था, मुझे भी जाकर यह मंदिर देखना है लेकिन करीब था, कभी भी देख आएगा यही सोच कर हमेशा रह जाता था।

एक दिन उसने तय ही कर लिया कि मैं कब तक रुका रहूंगा; आज रात मुझे उठ कर जाना है। सुबह को धूप बढ़ जाती थी, इसलिए वह दो बजे रात उठा, उसने लालटेन जलाई और गांव के बाहर आया पहाड़ पर जाने के लिए। घनी अंधेरी रात थी, वह बहुत डर गया। उसने सोचा, छोटी सी लालटेन है, केवल दो- तीन कदम तक प्रकाश देगी, और फासला दस मील का है। दस मील का अंधेरा इतनी छोटी सी लालटेन से कैसे कटेगा?
इतना अंधेरा है , इतना विराट रास्ता, इतनी छोटी सी है लालटेन पास में, इससे क्या होगा? इससे दस मील पार नहीं किए जा सकते। सूरज की राह देखनी चाहिए, तभी ठीक होगा। वह वहीं गांव के बाहर बैठ गया और सूरज के उगने का इंतजार करने लगा।

एक कदम सफलता की ओर- Best Motivational Story
वह मन ही मन सोच रहा था, यह ठीक भी है मैं ही रुक गया ,वरना इतना लंबा रस्ता मैं ऐसी लालटेन से ऐसे अंधेरे में नहीं निकाल सकता था अब रोशनी होने पर ही मैं निकलूंगा। वह लगातार गणित की जोड़ कर रहा था और मन ही मन कुछ गीन रहा था।

मंजिल मिले ना मिले ये तो मुकद्दर की बात है पर हम कोशिश भी ना करें ये तो गलत बात है
मंजिल मिले ना मिले ये तो मुकद्दर की बात है पर हम कोशिश भी ना करें ये तो गलत बात है!

वह वहां डरा हुआ बैठा था और सुबह की प्रतीक्षा कर रहा था। तभी एक बूढ़ा आदमी एक छोटे से दीये को हाथ में लिए चला जा रहा था।
उसने उस बूढ़े से कहा, पागल हो गए हो? कुछ गणित का पता है? दस मील लंबा रास्ता है, तुम्हारे दीये से तो एक कदम भी रोशनी नहीं पड़ती है!

उस बूढ़े ने कहा, पागल, एक कदम से ज्यादा कभी कोई चल पाया है? एक कदम से ज्यादा मैं चल भी नहीं सकता, रोशनी चाहे हजार मील पड़ती रहे। और जब तक मैं एक कदम चलता हूं, तब तक रोशनी एक कदम आगे बढ़ जाती है। दस मील क्या, मैं दस हजार मील पार कर लूंगा।

MORE STORIES:

उस युवक से पूछा,” कि तु यहां क्यों बैठा है?
युवक नजरें नीचे करते हुए बोला मैं रोशनी का इंतजार कर रहा हूं फिर पहाड़ पर जाऊंगा।
उठ आ, तू क्यों बैठा है पागल?  तेरे पास तो अच्छी लालटेन है। एक कदम तू आगे चलेगा, रोशनी उतनी आगे बढ़ जाएगी। अगर तू इसी तरह से हिसाब लगाता रहेगा तो आगे नहीं बढ़ पाएगा अगर आगे बढ़ना है तो एक कदम का सोच 1000 कदम का मत सोच ।

Small Changes
Small Changes

एक कदम सफलता की ओर- Best Motivational Story

Moral of this story

जिंदगी में, अगर कोई पूरा हिसाब पहले लगा ले तो वहीं बैठ जाएगा, वहीं डर जाएगा और खत्म हो जाएगा। जिंदगी में एक-एक कदम का हिसाब लगाने वाले लोग हजारों मील चल जाते हैं और हजारों मील का हिसाब लगाने वाले लोग एक कदम भी नहीं उठाते, डर के मारे वहीं बैठे रह जाते हैं।

Whenever in life..you have to climb a long…don’t look at it as a whole. Focus on every single step as you move ahead.Every passing step will boost your confidence as a whole and let you take next step with much more inner strength and belief.

एक कदम सफलता की ओर- Best Motivational Story

दोस्तो , उम्मीद करती हूं कि आपको यह कहानी पसंद आई होगी। मेरी इस कहानी से आपने काफ़ी कुछ सीखा होगा कृपा Comment करके जरूर बताएं।  नीचे दिए गए EMOJI पर क्लिक करके आप इस पोस्ट को लाइक कर सकते हैं। Bell icon 🔔 आइकन पर क्लिक करे और नए पोस्ट को सबसे पहले पाए। ऐसी ही Motivational story के लिए कृपया इस पोस्ट को शेयर करे और हम से जुड़े रहे ।

Thank You

241 thoughts on “एक कदम सफलता की ओर- Best Motivational Story

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!